Localization and Internationalization

Localization स्थानीयकरण (अक्सर L10n के लिए संक्षिप्त) यह सुनिश्चित करने की प्रक्रिया और अवधारणा है कि एक वेबसाइट, वेब एप्लिकेशन, या किसी अन्य प्रकार की सामग्री को आसानी से एक विशिष्ट संस्कृति के अनुरूप अनुकूलित किया जा सकता है। Internationalization अंतर्राष्ट्रीयकरण (अक्सर I18n के लिए संक्षिप्त) यह सुनिश्चित करने का अभ्यास है कि किसी साइट या ऐप को इस तरह से डिज़ाइन किया जाए जिससे स्थानीयकरण संभव हो।

मार्गदर्शक और ट्यूटोरियल

मार्गदर्शिकाएँ और ट्यूटोरियल आपको यह सुनिक्षित करने में मदद करते हैं कि आपके ऐप्स i18n तैयार हैं, और कैसे उन्हें स्थानीय करें।

अंतर्राष्ट्रीयकरण की अवधारणाएँ
अंतर्राष्ट्रीयकरण (i18n) क्या है और वेब डेवलपर्स के लिए कौन-कौन सी सुविधाएँ और प्रौद्योगिकियाँ उपलब्ध हैं, इसका उपयोग यह सुनिश्चित करने के लिए किया जा सकता है कि आपकी सामग्री स्थानीयकृत होने के लिए तैयार है।
स्थानीयकरण का परिचय
एक वेब साइट या ऐप को स्थानीय बनाने में शामिल एक परिचयात्मक मार्गदर्शिका, उन कारकों की पहचान करने से, जिनकी समीक्षा करने की आवश्यकता है और वास्तव में आवश्यक परिवर्तनों को लागू करने के लिए बदलना ज़रूरी है।
यूनिकोड बिडायरेक्शनल टेक्स्ट एलगोरिदम
यूनिकोड बिडायरेक्शनल एलगोरिदम एक मानक एल्गोरिथ्म है जिसका उपयोग यूनिकोड टेक्स्ट के रेंडरिंग ऑर्डर को निर्धारित करने के लिए किया जाता है, और वेब ब्राउज़र द्वारा कंटेंट को रेंडर करते समय इसका उपयोग किया जाता है। यह अवलोकन आपको BiDi शब्दावली("BiDi") एल्गोरिथ्म की एक सामान्य समझ देगा और यह आपके अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों को कैसे प्रभावित करता है।

संदर्भ

संदर्भ सामग्री जो आपके द्वारा उन साइटों को बनाने में सहायक होगी जो स्थानीयकरण-तैयार हैं।

HTML तत्व जिन का उपयोग i18n और l10n के लिए किया जाता है
HTML द्वारा प्रदान किए गए तत्वों का संदर्भ जिसका उपयोग स्थानीयकरण के लिए तैयार सामग्री बनाने के लिए किया जा सकता है।
सीएसएस(CSS) और स्थानीयकरण

CSS संपत्तियों का एक संदर्भ जो विशेष रूप से l10n-तैयार सामग्री का उत्पादन करते समय महत्वपूर्ण हैं।